पाबला, गूगल – ज्ञान का संयुक्त प्रयास: हिंदी ब्लॉगिंग वाले चंद धूर्तों के संदर्भ में

हमारे परिवार में दीपावली लगभग पारम्परिक तरीके से ही मनाई जाती है। देर शाम गुरूद्वारे जा कर रोशनी किए जाने की परम्परा भी पारिवारिक सदस्य निभाते आए हैं। लेकिन इस बार सब-कुछ गड़बड़ा गया। हमारी माता जी पिछले दो सप्ताह से अस्पताल में दाखिल हैं। विभिन्न उपकरणों के सहारे साँसों को जारी रखते हुए उनके […]
Continue reading…

 

एक चिंतित पिता की समस्या का निवारण

दो दिन पहले एक विभागीय मित्र ने सम्पर्क किया। कुछ भ्रमित से लग रहे मित्र ने जो कुछ कहा-सुना वह कुछ इस तरह था कि उनका पुत्र इंज़ीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेना चाहता है। इस संबंध में कई जगह आरम्भिक परीक्षा दे चुका है। रैंक अलग अलग आये हैं। उसे दक्षिण भारत के एक निजी […]
Continue reading…